जानिए क्या है प्रेतों-पिशाचों की रहस्यमयी दुनिया और कैसे बनते हैं ये


आप ने भी भूत और प्रेतों की बहुत सारी कहानियां सुनी होंगी। कुछ अपने दादा दादी से या आस पड़ोस से, कुछ झूटी और कुछ सच्ची , लेकिन खौफ को हकीकत में वो ही समझ सकता है जिनका सामना इन आत्माओ से हुआ हो। क्या आप जानना नही चाहेंगे कि कैसा अहसास होता है इनके सामने आने पर । वैसे दुनिया की इन परालौकिक ताकतों को साइंस निगेटिव एनर्जी के नाम से जानती है और इनके अस्‍तित्‍व को लेकर समय-समय पर सवाल खड़े होते रहे हैं। ये परालौकिक ताकतें एक नहीं बल्‍कि कई रूपों में पहचानी जाती हैं। इनके रूपों की तरह इनके नाम भी अलग-अलग होते हैं। आइए जानें कैसे रूप और कैसे नाम होते हैं इनके तो सबसे पहले दिल थामिए और फिर आगे बढ़िए। .

——————————————————————————

1. भूत
उत्तर भारत में एकांत में लगने बाले डर को आम तौर पर लोग भूत के नाम से ही जानते हैं। ऐसे में हर भटकती आत्‍मा, रूह या शक्‍ति को भूत की श्रेणी में ही रखा जाता है। भूत दिखता कम है डराता ज्यादा, लोगों के बीच इनका नाम चलन में है।

images-16

 

2.प्रेत
जिन लोगों की मौत का कारण उसका परिवार होता है या आकाराण दुर्घटना बस या फिर उसका गला रेता गया हो या फिर किसी बीमारी की वजह से प्राण तड़प तड़प के निकला हो या उसको जहर दे के मारा गया हो वो प्रेत बन जाते हैं। इसके अलावा वो लोग जिनको उनके परिवार की ओर से सही तरीके से अंतिम विदाई नहीं दी जाती, वो भी प्रेत बन जाते हैं। ये विकृत रूप मे दिखाई देते हैं, ये बहुत शक्तिशाली होटेन हैं।
images-11

 

3. चेतकिन
इस तरह की आत्‍माएं किसी को भी अपने वश में कर सकती हैं। ये उनके शरीर मे अपना घर बना लेती हैं इसके बाद ये उन्‍हें दुर्घटना के लिए प्रेरित करती हैं। सिर्फ यही नहीं ये आत्‍माएं तो तब तक उस इंसान का पीछा नहीं छोड़ती हैं जब तब उसकी जान न चली जाए।

images-14

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *